क्रिएटिविटी के नाम पर भारतीय सभ्यता को अमर्यादित करने वाले कंटेंट के लिए OTT प्लेटफॉर्मों पर कसा शिकंजा

| 20-07-2023 4:16 PM 25

भारत मे ओटीटी (OVER THE TOPS) प्लेटफॉर्मों पर स्ट्रीम किये जाने वाले अमर्यादित कार्यक्रमों पर कड़ी कार्यवाही किये जाने का समय आ गया है. देश के सूचना व प्रसारण मंत्री श्री अनुराग ठाकुर ने कड़े शब्दों में ओटीटी प्लेटफॉर्म के प्रतिनिधियों से एक मुलाकात करके उन्हें अवगत करा दिया है. श्री ठाकुर ने दिल्ली में ओटीटी विशेष पर आयोजित कार्यक्रम में यह संकेत दिया है जहां ओवर द टॉप्स प्लेटफॉर्मों (अमेजोन प्राइम वीडियो, नेटफ्लिक्स,  जी5, डिज्नी हॉट स्टार  अल्ट बालाजी, आदि) के भारतीय प्रतिनिधि हिस्सा लेने पहुचे थे.

 

"क्रिएटिव फ्रीडम" की बात उठाने वाले ओटीटी प्लेयर्स के प्रतिनिधियों ने कहा की सरकार द्वारा स्थापित ओटीटी गाइडलाइन 2021 की मर्यादा को ध्यान में रखने की पहल काफी हद तक किया जा रहा है, मंत्री महोदय ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि देश के कल्चर , सभ्यता, धर्म और जाति की व्यवस्था को नुकशान पहुचने वाले कंटेंट नहीं दिखाई जाने चाहिए. अभद्र भाषा के संवाद (गाली गलौज) या वल्गर दृश्य दिखाना रोकना होगा. उन्होंने यह भी कहा कि राष्ट्रीय अस्मिता को नुकशान पहुचाने वाले विषय या उत्तेजना फैलाने वाले प्रोपोगंडा के कथानक को रोकना होगा. 

 

ओटीटी प्लेटफॉर्म पर प्रदर्शन पाने के पहले यह बताने की व्यवस्था शुरू की जा चुकी है कि स्ट्रीम हो रहा कंटेंट किस वर्ग, उम्र या हालात से संबंधित है. इसके लिए कई कैटेगरीज में संदेश देना जरूरी है.जैसे यूनिवर्सल विषय है तो 'U' , 7 साल के ऊपर की उम्र के लिए 'U/A+7', 13 साल की उपर की उम्र के लिए 'U/A+13', 16 साल के ऊपर के लिए 'U/A+16',  एडल्ट विषय के लिए 'A' दर्ज किया जाता है. मंत्री अनुराग ठाकुर ने किसी भी तरह से देश के सम्मान और संस्कृति-सभ्यता को अप्रतिष्ठित करने के खिलाफ ना जाने के लिए ओटीटी  प्लेयर्स को सावधान किया है.